Maharana Pratap Jayanti 2024: इन संदेशों से करीबियों को दें महाराणा प्रताप जयंती की शुभकामनाएं, मन में भर देंगे जोश

Divya Rai
Divya Rai
Content Writer The Printlines (Part of Bharat Express News Network)
Must Read
Divya Rai
Divya Rai
Content Writer The Printlines (Part of Bharat Express News Network)

Maharana Pratap Jayanti 2024: प्रत्येक वर्ष ज्येष्ठ माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को महाराणा प्रताप की जयंती मनाई जाती है. अंग्रेजी कैलेंडर के मुताबिक 9 मई, 1540 में महाराणा प्रताप का जन्म हुआ था. आज दुनियाभर में महाराणा प्रताप के शौर्य और वीरता की गाथा सुनने को मिलती है. देशभर में हिन्दू सम्राट महाराणा प्रताप की जयंती बड़े ही धूमधाम से मनाई जाती है. इस खास मौके पर आज हम आपके लिए कुछ ऐसे संदेश लेकर आए हैं, जो आपके जोश और हौंसलों को बुलंद कर देंगे.

1. चेतक पर चढ़ जिसने,

भाला से दुश्मन संघारे थे,

मातृभूमि के खातिर,

जंगल में कई साल गुजारे थे.

2. भारत मां का ये वीर सपूत,

हर हिंदुस्तानी को प्यारा है,

महराणा प्रताप जी के चरणों में,

शत-शत नमन हामारा है.

3. आगे नदिया पड़ी अपार

घोड़ा कैसे उतरे उस पार,

राणा ने सोचा इस पार

तब तक चेतक था उस पार.

4. जब-जब तेरी तलवार उठी, तो दुश्मन टोली डोल गयी,

फीकी पड़ी दहाड़ शेर की, जब-जब तुने हुंकार भरी।

5. जिसकी तलवार की छलक से

दुश्मन का दिल घबराता था,

वो अजर-अम्र वो शूरवीर तो

महाराणा प्रताप कहलाता था.

6. झुके नहीं वह दुश्मनों से,अनुबंधों को ठुकरा डाला,

मातृभूमि की भक्ति का, नया प्रतिमान बना डाला.

7. प्रताप के शौर्य की गाथा,

हर कोई सुनाएगा गाकर,

मातृभूमि भी धन्य हो गई,

प्रताप जैसा पुत्र पाकर.

8. साहस का प्रतीक नीले घोड़े पर सवार,

वीरता का प्रतीक मेरा मेवाड़ी सरदार.

9. हे प्रताप मुझे तू शक्ति दे, दुश्मन को मै भी हराऊंगा

मै हूं तेरा एक अनुयायी, दुश्मन को मार भगाऊंगा.

10. हे राणा थारी हुंकार सू,

अकबर कांपो जाय,

अंबरा में जयां बिजली चमके,

ऐठे थारी तलवार चमकी जाए.

Latest News

Uttarakhand News: सीएम धामी ने की अग्निवीरों को आरक्षण देने की घोषणा, कहा- जरूरत पड़ी तो बनाएंगे कानून

Uttarakhand News: सरकार अब उत्तराखंड में अग्निवीरों को आरक्षण देगी. मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (Pushkar Singh Dhami) ने रविवार,...

More Articles Like This