Manipur Violence: मणिपुर में नहीं थम रही हिंसा, गोलीबारी में नौ की मौत, कई घायल

Must Read

Manipur Violence: मणिपुर में हिंसा का क्रम जारी है. जैसे ही सरकार और आम लोगों को ऐसा लग रहा है कि तनाव शांत हो गया है. वैसे ही फिर गोलीबारी होने लग रही है. बुधवार को पुलिस ने बताया कि इमफल ईस्ट जिले के खामेनलोक क्षेत्र में देर रात गोलीबारी की एक घटना हुई. इस घटना में नौ लोगों की मौत हो गई, जबकि 10 अन्य घायल हुए हैं.

पुलिस ने बताया कि हथियारों से लैस उग्रवादियों ने इमफल पूर्वी जिले और कांगपोकी जिले की सीमा से लगे खामेनलोक इलाके के ग्रामीणों को घेर लिया और रात करीब एक बजे हमला किया. इससे नौ लोगों की मौत हो गई. वहीं 10 लोग घायल हुए हैं. घायलों को इमफल के अस्पताल में भर्ती कराया गया है. मालूम हो कि यह क्षेत्र मैतेई-बहुल इंफाल पूर्वी जिले और आदिवासी बहुल कांगपोकपी जिले की सीमाओं के साथ स्थित है.

सोमवार को भी हुई थी गोलीबारी
वहीं, सोमवार को भी इसी इलाके में गोलीबारी की घटना हुई थी, जिसमें नौ लोग घायल हुए थे. यहां विद्रोही संगठन के लोगों और ग्रामीणों के बीच सोमवार की देर रात गोलीबारी हुई थी, जिसमें दोनों तरफ से नौ लोग घायल हुए थे. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया था कि पहले तीन लोगों के घायल होने की खबर थी. हालांकि, गोलीबारी जारी रहने के कारण घायलों की संख्या बढ़कर नौ हो गई थी.

मंगलवार को भी मुठभेड़
पुलिस के मुताबिक, बिष्णुपुर जिले के फौगाकचाओ इखाई में मंगलवार को सुरक्षा बलों की कुकी उग्रवादियों के साथ मुठभेड़ हुई थी. दरअसल, कुकी उग्रवादी मैतेई इलाकों के पास बंकर बनाने की कोशिश कर रहे थे, तभी सुरक्षा बलों ने उन्हें चुनौती दी, जिसके परिणामस्वरूप दोनों तरफ से गोलीबारी हुई.

यह है मामला
मणिपुर में बीते एक महीने से जारी हिंसा में अब तक कम से कम 100 लोगों की मौत हुई है और 310 अन्य घायल हुए हैं. दरअसल मणिपुर का मेइती समुदाय उन्हें अनुसूचित जनजाति का दर्जा देने की मांग कर रहा है. इसके खिलाफ 3 मई को राज्य के पर्वतीय जिलों में आदिवासी एकजुटता मार्च निकाला गया, जिसके बाद राज्य में हिंसा शुरू हो गई. राज्य के 16 जिलों में से 11 में कर्फ्यू लगा हुआ है. वहीं, पूरे राज्य में इंटरनेट सेवाएं निलंबित हैं.

Latest News

NSD के भारत रंग महोत्सव की 25वीं वर्षगांठ के समापन समारोह में भारत एक्सप्रेस न्यूज नेटवर्क के CMD उपेंद्र राय को किया गया सम्मानित

संस्कृति मंत्रालय और एनएसडी ने देश भर में 1 फरवरी से दुनिया के सबसे बड़े अंतराष्ट्रीय थियेटर फेस्टिवल भारत...

More Articles Like This