‘…तो गूंज ज्यादा होती’, कंगना के थप्पड़ कांड पर बोले Chirag Paswan- ‘उनकी मां बैठी थीं, उनको बुरा लगा होगा’

Shivam
Shivam
Reporter The Printlines (Part of Bharat Express News Network)
Must Read
Shivam
Shivam
Reporter The Printlines (Part of Bharat Express News Network)

Kangana Ranaut Slap Controversy: हाजीपुर से सांसद और लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान को मोदी 3.0 में फूड प्रोसेसिंग मंत्रालय (Ministry of Food Processing) मिला है. हाल ही में उन्होंने डीएनए के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत के दौरान राजनीति से जुड़े कई मुद्दों पर खुलकर बात की है. उन्होंने इस बीच अपनी खास दोस्त और मंडी से सांसद इलेक्ट हो चुकीं एक्ट्रेस कंगना रनौत के साथ हुए थप्पड़ कांड पर भी रिएक्शन दिया है. उन्होंने कहा, वह CISF कॉन्सटेबल कुलविंदर कौर का दर्द समझ सकते हैं.

हर व्यक्ति को अभिव्यक्ति की आजादी’

चिराग ने कहा, ”ये गलत है, आप अपनी बात कहने के लिए गाली या हाथापाई का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं. हर व्यक्ति को अभिव्यक्ति की आजादी है, अपनी बात रख सकता है. मैं महिला कॉन्सटेबल की भावना को समझ सकता हूं, उनकी मां बैठी थीं, उनको बुरा लगा होगा. लेकिन, वो अपनी बात को मर्यादित शब्दों में कह सकती थीं. मुझे लगता है कि तब उनकी बात की गूंज ज्यादा होती. अगर वो कड़े शब्दों में अपना ऐतराज दर्ज करातीं और कहतीं कि आपने ऐसा क्यों कहा था, मेरी मां थीं वहां पर मुझे दुख पहुंचा.

आपने हाथ उठाकर अपनी भावना को छोटा कर दिया.” चिराग पासवान ने आगे कहा कि ‘हर किसी को सोच और अभिव्यक्ति की आजादी है. कंगना ने अपनी बातों को रखा और वो (CISF कर्मी) भी अपनी बातों को ऐसे ही रख सकती थीं. कोई व्यक्ति, किसी भी महिला या पुरुष पर हाथ नहीं उठा सकता. मैं ये नहीं कह रहा कि सिर्फ महिला पर हाथ नहीं उठना चाहिए. पुरुष पर भी हाथ उठाना गलत है. आप विरोध दर्ज कराइए, लेकिन मर्यादित शब्दों में कराइए.

क्या था कंगना रनौत का किसान आंदोलन पर स्टेटमेंट?

बता दें, कंगना रनौत, मंडी से मिली जीत के बाद चंडीगढ़ होते हुए दिल्ली जा रही थीं. इस बीच चंडीगढ़ एयरपोर्ट पर चेकिंग के दौरान उनके ऊपर महिला CISF जवान कुलविंदर कौर ने हमला कर दिया और उन्हें थप्पड़ मार दिया. बताया गया कि ये महिला CISF जवान कंगना के एक पुराने स्टेटमेंट से नाराज थी, जो उन्होंने किसान आंदोलन के वक्त दिया था. कथित तौर पर कंगना ने अपने इस बयान में कहा था कि ‘किसान दिल्ली में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. क्योंकि, उन्हें 100-200 रुपये दिए जा रहे हैं’.

यह भी पढ़े: Yemen: यमन तट के पास प्रवासी नाव पलटी, 41 लोगों की मौत, कई लापता

Latest News

PM मोदी के दौरे से पहले CM योगी ने काशी में तैयारियों का लिया जायजा

Varanasi News: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दो दिवसीय दौरे पर शुक्रवार शाम वाराणसी पहुंचे। सीएम योगी ने यहां प्रधानमंत्री नरेन्द्र...

More Articles Like This