Milk Production: दूध और ऊन उत्पादन में सबसे आगे निकला राजस्थान, इन राज्यों को छोड़ा पीछे

Must Read

Basic Animal Husbandry statistics 2022 Report: भारत एक कृषि प्रधान देश है। अन्न उत्पादन और निर्यात में कई बड़े कीर्तीमान स्थापित किए हैं। भारत बागवानी फसलें जैसे, फल-सब्जी का प्रोडक्शन में भी आगे चल रहा है। ताजा रुझान बताते हैं कि देश में दूध उत्पादन भी तेजी से बढ़ रहा है। कई पशुपालन योजनाओं की मदद से इस सेक्टर ने भी अच्छा तरक्की की है।

हाल ही में पशुपालन मंत्रालय ने अपनी ‘बुनियादी पशुपालन सांख्यिकी 2022’ रिपोर्ट भी जारी कर दी है। इस वार्षिक प्रकाशन में दूध और ऊन उत्पादन में भारत और इसके राज्यों की स्थिति पर प्रकाश डाला गया है। खुशखबरी यह है कि दूध और ऊन दोनों ही क्षेत्रों में राजस्थान पहले स्थान पर काबिज हुआ है। इस रिपोर्ट के अनुसार, देश में कुल दूध उत्पादन का 15.5 प्रतिशत राजस्थान से ही मिल रहा है। वहीं भारत के कुल ऊन उत्पादन का 45.91 प्रतिशत हिस्सा भी राजस्थान ही दे रहा है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि राजस्थान में मुख्यमंत्री दूध उत्पादक संबल योजना के तहत पशुपालकों को प्रति लीटर दूध पर 5 रुपये अनुदान दिया जाता है।

राजस्थान दूध उत्पादन में सबसे आगे

बुनियादी पशुपालन सांख्यिकी 2022 रिपोर्ट के अनुसार, राजस्थान में वर्ष 2021-22 के दौरान 221.06 मिलियन दूध उत्पादन हुआ है, जो पिछले रुझानों की तुलना में 5.29 फीसदी ज्यादा है। बात करें ऊन उत्पादन की तो भारत में वर्ष 2021-22 के दौरान 33.13 हजार टन का उत्पादन हुआ था। राज्य में पशुपालन विभाग के शासन सचिव ने बताया कि पशुपालन सेक्टर के विकास और पशुपालकों के कल्याण के लिए सरकार के विचार और योजनाओं से ही राजस्थान पशुपालन सेक्टर में अपनी कामयाबी का परचम लहरा रहा है और अब दूध और ऊन उत्पादन में पहले स्थान पर भी काबिज हुआ है। आगे भी पशुपालन सेक्टर में राजस्थान को आदर्श राज्य बनाने में पूरे प्रयास करेंगे।

देश के टॉप पांच दूध उत्पादक राज्य

केंद्रीय पशुपालन मंत्री परषोत्तम रूपाला की तरफ से जारी बुनियादी पशुपालन सांख्यिकी 2022 रिपोर्ट के मुताबिक, देश में दूध का कुल उत्पादन 221.06 मिलियन टन रहा है, जिसमें सबसे ज्यादा योगदान राजस्थान (15.05 प्रतिशत), उत्तर प्रदेश (14.93 प्रतिशत), मध्य प्रदेश (8.06 प्रतिशत), गुजरात (7.56 प्रतिशत) और आंध्र प्रदेश (6.97प्रतिशत) का रहा है। इस रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि वर्ष 2021-22 के बीच दूध की प्रति व्यक्ति उपलब्धता 444 ग्राम प्रति दिन रही है। ये आंकड़ा पिछले कुछ वर्षों में 17 ग्राम प्रति दिन अधिक है।

ऊन उत्पादन में भी टॉप पर ये पांच राज्य

बुनियादी पशुपालन सांख्यिकी 2022 रिपोर्ट के मुताबिक, वर्ष 2021-22 के दौरान भारत में ऊन का कुल उत्पादन 33.13 हजार टन रहा, हालांकि पिछले कुछ वर्षों में ऊन उत्पादन में 10.30 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की जा रही थी। प्रमुख ऊन उत्पादक राज्यों की बात करें तो राजस्थान (45.91 प्रतिशत), जम्मू और कश्मीर (23.19 प्रतिशत), गुजरात (6.12 प्रतिशत), महाराष्ट्र (4.78 प्रतिशत) और हिमाचल प्रदेश (4.33 प्रतिशत) का नाम टॉप 5 में शामिल है।

बढ़ा अंडे-मास का उत्पादन

आधारभूत पशुपालन सांख्यिकी 2022 रिपोर्ट में पशुपालन के तहत आने वाला अंडा और मांस उत्पादन से जुड़े कुछ आंकड़े प्रस्तुत किए गए हैं। इसके अनुसार, वर्ष 2021-22 के दौरान देश में कुल अंडा उत्पादन 129.60 बिलियन रहा, जिसमें पिछले वर्ष के मुकाबले 6.19 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की गई है। इस बढ़ती उत्पादन दर का श्रेय टॉप 5 अंडा उत्पादक राज्यों को जाता है, जिनमें आंध्र प्रदेश (20.41 प्रतिशत), तमिलनाडु (16.08 प्रतिशत), तेलंगाना (12.86 प्रतिशत), पश्चिम बंगाल (8.84 प्रतिशत) और कर्नाटक (6.38 प्रतिशत) का नाम शामिल है। भारत में वर्ष 2021-22 के दौरान मांस उत्पादन 5.62 प्रतिशत की ग्रोथ के साथ 9.29 मिलियन टन रहा है। इसमें महाराष्ट्र (12.25 प्रतिशत), उत्तर प्रदेश (12.14 प्रतिशत), पश्चिम बंगाल (11.63 प्रतिशत), आंध्र प्रदेश (11.04 प्रतिशत), और तेलंगाना (10.82 प्रतिशत) की पहचान प्रमुख मांस उत्पादक राज्यों के तौर पर की गई है।

Latest News

वीकेंड ट्रैवल के लिए बेस्ट हैं ये डेस्टिनेशंस, खूबसूरत नजारों के साथ शांति और सुकून की होगी अनुभूति

Weekend Travel: वीकेंड की छुटि्टयों में कहीं घूमने जाने की सोच रहे है तो दिल्‍ली के पास या दिल्‍ली में...

More Articles Like This