कंगाल Pakistan में महंगाई ने तोड़े सारे रेकॉर्ड, अब IMF ही है अंतिम सहारा

Must Read

Pakistan: इस समय पाकिस्तान आर्थिक और राजनीतिक संकटों से जूझ रहा है. जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तान (Pakistan) में महंगाई रिकॉर्ड स्तर तक पहुंच गई है. ताजा आंकड़ों के अनुसार, पाकिस्तान में मई महीने में वार्षिक मुद्रास्फीति दर बढ़कर रिकॉर्ड 37.97 प्रतिशत हो गया है. पाकिस्तान (Pakistan) विदेशी कर्ज के बोझ, स्थानीय मुद्रा के कमजोर होने और विदेशी मुद्रा भंडार के कम होने जैसे कई संकटों से जूझ रहा है.

आर्थिक बदहाली और महंगाई के मामले में पाक ने श्रीलंका को भी पछाड़ दिया है. मई 2023 में पाकिस्तान में महंगाई की दर 38 पुतिशत पर पहुंच गई है, जो एशिया में सबसे ज्यादा है. फिलहाल श्रीलंका में महंगाई दर घटकर 25.2 प्रतिशत पर पहुंच गई है. इस गंभीर संकट के बाद भी पाकिस्तान IMF की शर्तों को पूरा करने में अनिच्छा जाहिर कर रहा है. अगर IMF की फाइनेंस फंडिग का प्रोग्राम जून के अंत में खत्म हो जाता है, तो शाहबाज सरकार के सामने पूरी तक डिफॉल्ट कर जाने का खतरा बहुत ज्यादा बढ़ सकता है.

पहले पिछली सदी में अमेरिका और अब चीन के समर्थन के कारण पाकिस्तान हमेशा अपनी औकात से ज्यादा उछल-कूद करता रहा है. हर मामले में पाकिस्तान (Pakistan) भारत के साथ अपनी तुलना करने की कोशिश करता है. इस तरह देखा जाए, तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार के तहत भारत में मुद्रास्फीति की दर 4.7 प्रतिशत है, जो अक्टूबर 2021 के बाद सबसे कम है, जबकि खाद्य मुद्रास्फीति सिर्फ 3.8 फीसदी है.

ये भी पढ़े:- RBSE 10th Result 2023: राजस्थान बोर्ड ने जारी किया कक्षा 10वीं परीणाम, SMS के जरिए ऐसे करें चेक

मई में पाकिस्तान (Pakistan) में खाद्य मुद्रास्फीति 48.7 फीसदी रही, जो अप्रैल में 48.1 फीसदी थी. पाकिस्तान में आर्थिक संकट के बीच पूर्व पीएम इमरान खान के साथ शरीफ सरकार का टकराव बढ़ता जा रहा है. IMF मिशन के प्रमुख नाथन पोर्टर ने इसके बारे में कहा, उन्हें उम्मीद है कि पाकिस्तान (Pakistan) में मौजूदा राजनीतिक संकट को संविधान और कानून के शासन के दायरे में सुलझा लिया जाएगा.

इसके बाद IMF के साथ पाकिस्तान (Pakistan) सरकार की बातचीत और भी बिगड़ हो गई है. पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ ने इस बयान की आलोचना की. क्ष्‍वाजा आसिफ ने पोर्टर के बयान को पाकिस्तान के राजनीतिक मामलों में दखल देने के बराबर बताया. उन्‍होंने पाकिस्तान को जरूरी 1.1 अरब डॉलर का कर्ज देने के बजाय पाकिस्तान की घरेलू राजनीति पर टिप्पणी करने के लिए पोर्टर पर नाराजगी जताई.

ये भी पढ़े:- Brij Bhushan: अयोध्या में होने वाली भाजपा सांसद बृजभूषण सिंह की रैली रद्द, नहीं मिली इजाजत

Latest News

दिल्ली पहुंची बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना, इन मुद्दो पर होगी द्विपक्षीय वार्ता

Sheikh Hasina reached Delhi: बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना दो हफ्ते के अंदर दूसरी बार भारत दौरे पर आई...

More Articles Like This