Sanjeev Maheshwari: ब्रह्मदत्त द्विवेदी की हत्या के बाद जरायम की दुनिया में चर्चा में आया था जीवा, मुख्तार से भी कनेक्शन

Must Read

Sanjeev Maheshwari: कोर्ट परिसर में कुख्यात शूटर संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा की गोली मारकर हत्या की वारदात से अपराध की दुनियां में हड़कंप मच गया है। जीवा के अपराध की कुंडली खंगाली जाए तो, यूपी के फर्रुखाबाद में 10 फरवरी 1997 को हुई पूर्व कैबिनेट मंत्री ब्रह्मदत्त द्विवेदी की हत्या की वारदात के बाद जीवा जरायम की दुनिया में सुर्खियों में आया था। इसी वारदात के बाद उसकी कुख्यात मुन्ना बजरंगी से नजदीकियां बढ़ीं थी। 2005 में गाजीपुर के बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय सहित सात लोगों की हत्या में बजरंगी और जीवा को पुलिस ने आरोपी बनाया था। मालूम हो कि भाजपा नेता ब्रह्मदत्त द्विवेदी ने ही यूपी के चर्चित गेस्ट हाउस कांड में मायावती की सहायता की थी।

ये भी पढ़े:- कोर्ट परिसर में गोली मारकर कुख्यात शूटर जीवा की हत्या

भाजपा के कद्दावर नेता थे ब्रह्मदत्त द्विवेदी
फर्रुखाबाद के अमृतपुर गांव के रहने वाले और पेशे से वकील ब्रह्मदत्त द्विवेदी की गिनती बीजेपी के कद्दावर नेताओं में होती थी। कल्याण सिंह सरकार में वह ऊर्जा व राजस्व विभाग के कैबिनेट मंत्री रहे। जून 1995 को स्टेट गेस्ट हाउस कांड में ब्रह्मदत्त द्विवेदी ने बसपा नेता मायावती को बचाया था। साथ ही मायावती और कांशीराम पर हमला बोलने आए सपा के लोगों से मोर्चा लिया था, उसके चलते तो द्विवेदी और भी चर्चित हो गए थे। साथ ही उनका राजनीतिक कद भी काफी बढ़ गया था।

जीवा का नाम था प्रदेश की माफिया सूची में
प्रदेश के माफिया की सूची में माफिया मुख्तार अंसारी के साथ ही मुजफ्फरनगर निवासी संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा का नाम भी शामिल था। जीवा को मुख्तार अंसारी का करीबी बताया जाता था। जीवा के खिलाफ मुजफ्फरनगर में एक दर्जन से अधिक गंभीर धाराओं के मुकदमे दर्ज हैं। उस पर भाजपा विधायक ब्रह्मदत्त द्विवेदी के अलावा भाजपा विधायक कृष्णानंद राय सहित सात लोगों की हत्या का भी आरोप था।

ये भी पढ़े:- कंपाउंडर से जरायम की दुनिया का खूंखार ‘डॉक्‍टर’ बना संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा

एके-47 बेचने में भी आया था नाम
वर्ष 2022 में भौराकलां के गांव हड़ौली माजरा निवासी अनिल उर्फ पिंटू को पकड़ा गया था। उसके पास से एके-47 बरामद हुई थी। जांच-पड़ताल में जीवा की तरफ से यह हथियार बेचने की बात सामने आई थी।

जीवा की संपत्ति की गई थी जब्त
मुजफ्फरनगर के महावीर चौक पर जीवा की पत्नी पायल माहेश्वरी का चार करोड़ का कांप्लेक्स था। यह संपत्ति जीवा के खिलाफ मुजफ्फरनगर शहर कोतवाली में दर्ज गिरोहबंद अधिनियम के तहत मई 2022 में जब्त की गई थी।

ये भी पढ़े:- कंपाउंडर से जरायम की दुनिया का खूंखार ‘डॉक्‍टर’ बना संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा

Latest News

NSD के भारत रंग महोत्सव की 25वीं वर्षगांठ के समापन समारोह में भारत एक्सप्रेस न्यूज नेटवर्क के CMD उपेंद्र राय को किया गया सम्मानित

संस्कृति मंत्रालय और एनएसडी ने देश भर में 1 फरवरी से दुनिया के सबसे बड़े अंतराष्ट्रीय थियेटर फेस्टिवल भारत...

More Articles Like This