Bhojpuri Actresses: Monalisa से लेकर Akshara Singh तक, जानें कितनी पढ़ी-लिखी हैं हुस्न से कयामत ढाने वाली ये अभिनेत्रियां

Must Read

Education Qualification of Bhojpuri Actress: आज के समय में भोजपुरी सिनेमा को पूरी दुनिया में देखा और पसंद किया जाता है. इसी के साथ भोजपुरी अभिनेत्रियों का भी सोशल मीडिया पर जबरदस्त फैन फालोइंग देखने को मिलती है. रानी चटर्जी, मानालिसा, आम्रपाली दुबे, अक्षरा सिंह, काजल राघवानी जैसी भोजपुरी एक्ट्रेस की एक्टिंग के सभी भोजपुरी दर्शक दीवाने है. आज के इस आर्टिकल में हम आपको भोजपुरी सिनेमा जगत के इन्‍ही अभिनेत्रियों की Education Qualification के बारे में बताएंगे, चलिए जानते है…

Monalisa
Monalisa

मोनालिसा (Monalisa)
आपको बता दें कि मोनालिसा ने भोजपुरी फिल्मों के साथ-साथ हिंदी, बंगाली, उड़िया सहित कई साउथ फिल्मों में भी काम किया है. अभिनेत्री ने भी सिर्फ ग्रेजुशन तक पढ़ाई की है.

Rani-Chatterjee
Rani-Chatterjee

रानी चटर्जी (Rani Chatterjee)
वर्ष 2003 में रानी चटर्जी ने भोजपुरी फिल्मों में डेब्यू किया था. अभिनेत्री ने कई शानदार फिल्मों में काम किया. रानी चटर्जी ने भी मुंबई के एक कॉलेज से ग्रेजुएशन तक पढ़ाई की है. 

Amrapali Dubey
Amrapali Dubey

आम्रपाली दुबे (Amrapali Dubey)
आम्रपाली दुबे ने भोजपुरी सिनेमा जगत में अपनी एक अलग पहचान बनाई है. अभिनेत्री के माता-पिता का सपना उन्हें डॉक्टर बनाने का था. लेकिन, आम्रपाली दुबे का मन पढ़ाई में नहीं लगता था. आपको बता दें कि आम्रपाली दुबे ने सिर्फ ग्रेजुएशन तक ही पढ़ाई की है. कॉलेज के दौरान अभिनेत्री ने ऑडिशन देना शुरू कर दिया था, जिसके बाद वो फिल्मों में काम करने लगी. 

Akshara-Singh
Akshara-Singh

अक्षरा सिंह (Akshara Singh)
आपको बता दें कि अक्‍सर पवन सिंह को लेकर विवाद में रहने वाली अभिनेत्री अक्षरा सिंह ने भी ग्रेजुएशन तक पढ़ाई की है. इसके बाद वर्ष 2011 में अक्षरा सिंह ने भोजपुरी फिल्म प्राण जाई पर वचन ना जाई से फिल्मों में डेब्यू कर लिया.

ये भी पढ़े:- Fulwaa Trailer: ‘फुलवा’ का ट्रेलर रिलीज, शिक्षा के लिए संघर्ष करती…

ये भी पढ़े:- Biparjoy को लेकर अलर्ट जारी, रक्षा मंत्री Rajnath Singh ने सेना प्रमुखों संग की बैठक

ये भी पढ़े:- Khesari Lal Yadav ने Anjana Singh और Madhu Sharma से लुंगी…

Latest News

डॉ. राजेश्वर सिंह ने NCERT की पुस्‍तकों में हुए संशोधन की सराहना, कहा- ये परिवर्तन छात्रों को सूचना के दृष्टिकोण से बनाएंगे सशक्त

Dr Rajeshwar Singh: डॉ. राजेश्वर सिंह ने राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद द्वारा 12वीं कक्षा तक की पुस्तकों में किए गए...

More Articles Like This