बालासोर ट्रेन हादसे को लेकर पूर्व डिप्टी CM डॉ. दिनेश शर्मा ने दी ममता सरकार को नसीहत, कहा- ‘कोई झगड़ा न कीजिए’

Must Read

नई दिल्ली। संपर्क महाअभियान के अंतर्गत पूर्व उपमुख्यमंत्री एवं भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. दिनेश शर्मा ने मोराराई मंडल-3 जिले के वीरभूम बंगाल प्रदेश में विशाल जनसभा को सम्बोधित किया। इस दौरान उन्होंने तृणमूल के अत्याचारी शासन को उखाड़ कर भाजपा के सुशासन, जनपयोगी सरकार लाने और लोकसभा चुनाव में भारी बहुमत से जिताने की अपील की। उन्होंने मोदी सरकार की उपलब्धियों की जानकारी देते सरकार की नीतियों-रीतियों से लोगों को अवगत कराया।

सभा को सम्बोधित करने के बाद पूर्व डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा ने पत्रकारों से बातचीत की। पत्रकार वार्ता में ट्रेन के स्टापेज के संबंध में पूछे गए सवाल के जवाब में पूर्व डिप्टी सीएम ने कहा कि यदि यहां से सरकार की कोई रिपोर्ट गई होगी तो उस पर विचार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि रेलवे स्टापेज का जो प्रश्न होता है, उसमें राज्य सरकार अपना अभिमत देती है, उसके अनुसार केंद्र सरकार निर्णय होता है। रेल मंत्रालय और भारत सरकार को स्टापेज से कोई आपत्ति नहीं है। यहां के लोग लिख कर देंगें या यहां की सरकार लिखकर भेजेगी तो जरूर स्टापेज मिलेगा।

रेल हादसे में मृतकों और घायलों के मुआवजा के संबंध में पूछे गए सवाल के जवाब में पूर्व डिप्टी सीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा आवास के लिए जो पैसा दिया गया है, मैं ममता दीदी से आग्रह करुंगा कि प्रधानमंत्री आवास एक-एक मृतक के परिजनों को दिया जाना चाहिए। मैं उनसे यह भी मांग करता हूं कि जो भी केंद्र सरकार ने पैसा भेजा है, मृतकों के परिजनों और घायलों को दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि मृतकों और घयलों के लिए रेलवे के साथ ही प्रधानमंत्री कोष से अलग मुआवजा आया है, यहां की सरकार भी अपनी तरफ से भी पीड़ितों की मदद करें।

पूर्व डिप्टी सीएम ने कहा कि जो आयुष्मान भारत का पैसा है, मैं ममता दीदी आपसे मीडिया के माध्यम से प्रार्थना कर रहा हूं कि पांच लाख रुपए का जो आयुष्मान भारत कार्ड है जो आप नहीं बनने दे रही है, वह इन गरीबों को बनवाने दीजिए, पांच लाख रुपए कम से कम इनकी दवा में लग जाए, जिससे इनके परिवार का स्वास्थ्य अच्छा हो जाए, इसमें कोई झगड़ा न कीजिए। हमारे किसानों की रक्षा करिए और उनकी सूची भारत सरकार को अब दे दीजिए, जो सूची आप दें देंगी, उतना पैसा किसानों के मिल जाएगा। आप सूची क्यों नहीं दे रही हैं।

Latest News

भारत में कुछ सालों में दोगुनी हो जाएगी बुजुर्गों की आबादी, सामने आई बड़ी रिपोर्ट

India old age population: भारत दुनिया में सबसे नौजवान देश के तौर पर जाना जाता है. ऐसा इसलिए क्योंकि...

More Articles Like This