दुबई में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के मामले में भारत प्रमुख स्रोत: रिपोर्ट

Must Read

संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के दुबई में प्रत्यक्ष विदेश निवेश (एफडीआई) के मामले में भारत प्रमुख स्रोत देश के रूप में उभरा है। ब्रिटेन के ‘फाइनेंशियल टाइम्स लि’. की सोमवार को जारी रिपोर्ट के अनुसार एफडीआई परियोजनाओं की घोषणाओं और अनुमानित एफडीआई पूंजी के मामले में भारत शीर्ष पांच देशों में शामिल है। भारत से दुबई में पिछले साल जिन क्षेत्र की परियोजनाओं में एफडीआई आया है, उसमें सॉफ्टवेयर और आईटी सेवाएं (32 प्रतिशत), व्यापार सेवाएं (19 प्रतिशत), उपभोक्ता उत्पाद (9 प्रतिशत), रियल एस्टेट (छह प्रतिशत) और वित्तीय सेवाएं शामिल हैं।

रिपोर्ट के अनुसार, वहीं जिन क्षेत्रों में भारत से दुबई में एफडीआई आया, उनमें उपभोक्ता उत्पाद (28 प्रतिशत), सॉफ्टवेयर और आईटी सेवाएं (20 प्रतिशत), संचार (19 प्रतिशत), औषधि (आठ प्रतिशत) और व्यापार सेवाएं (आठ प्रतिशत) शामिल हैं। दुबई ने भारत से एफडीआई के मामले में पहला स्थान बरकरार रखा। साथ ही 2022 में नई परियोजनाओं में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश आकर्षित करने को लेकर भी पहले स्थान पर रहा।

रिपोर्ट में कहा गया है कि 2022 लगातार दूसरा साल है, जब दुबई एफडीआई आकर्षित करने के मामले में पहले स्थान पर रहा। इसके साथ पिछले जिन एफडीआई परियोजनाओं की घोषणाएं हुई, उनमें सालाना आधार पर 89.5 प्रतिशत की वृद्धि हुई। वहीं एफडीआई पूंजी सालाना आधार पर 80.3 प्रतिशत बढ़ी।

Latest News

डॉ. राजेश्वर सिंह ने NCERT की पुस्‍तकों में हुए संशोधन की सराहना, कहा- ये परिवर्तन छात्रों को सूचना के दृष्टिकोण से बनाएंगे सशक्त

Dr Rajeshwar Singh: डॉ. राजेश्वर सिंह ने राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद द्वारा 12वीं कक्षा तक की पुस्तकों में किए गए...

More Articles Like This