Amarnath Yatra 2023: अमरनाथ यात्रा में बड़ा बदलाव, गृहमंत्रालय ने दिए ये अहम निर्देश!

Must Read

Amarnath Yatra 2023: देश में त्यौहारों का मौसम शुरू हो गया है. एक तरफ सावन को लेकर विशेष तैयारी है तो वहीं अमरनाथ की यात्रा को लेकर तैयारी पूरी कर ली गयी है. 27 जून को केंद्रीय गृहमंत्री ने इस यात्रा को लेकर सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की. अमरनाथ की कठिन यात्रा 1 जुलाई से शुरू होने जा रही है. इस यात्रा के लिए विशेष तैयारियां की गई हैं. पूरी यात्रा के लिए 3 लाख यात्रियों ने अग्रिम पंजीकरण किया है. श्रद्धालुओं का पहला जत्था कल भगवती नगर से रवाना होगा. भक्तों की सुविधाओं का ध्यान रखते हुए सभी तैयारियां पूरी कर ली गयी है. सुरक्षा के भी कड़े इंतजाम किए गए हैं.

यह भी पढ़ें- Amarnath Yatra: यात्रा में शामिल होने वालों के लिए सरकार ने जारी की एडवाईजरी, दर्शन के लिए जान लें नियम

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

बता दें, श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड और स्थानीय प्रशासन ने जानकारी दी कि इस यात्रा के लिए पहला जत्था कल रवाना होगा. इसके लिए तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम हैं. माना जा रहा है इस साल इस यात्रा में रिकॉर्ड श्रद्धालुओं के शामिल हो सकते हैं. इस बार यात्रा में काफी बदलाव किए गए हैं. इस यात्रा के दौरान पहले केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के पास सुरक्षा की जिम्मेदारी रहती थी लेकिन इस बार ये जिम्मेदारी भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) के जवान निभाएंगे.

यह भी पढ़ें- Devshayani Ekadashi 2023 Date: देवशयनी एकादशी पर करें ये उपाय, रातोंरात चमक जाएगी किस्मत

पिछले साल यात्रा 20 दिन हुई थी प्रभावित

जानकारी दें कि इस बार यात्रा को लेकर विशेष तैयारी है. पिछले साल की बात करें तो कुल 20 दिनों तक यात्रा प्रभावित हुई थी. दरअसल, खराब मौसम के कारण ऐसा हुआ था. ये पहली बार है जब इस यात्रा की सुरक्षा की जिम्मेदारी आईटीबीपी और सीमा सुरक्षा बल के पास होगी. वहीं इस यात्रा को लेकर विगत 27 जून को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने अमरनाथ यात्रा की व्यापक सुरक्षा समीक्षा की. इस बैठक में सेना के तमाम अधिकारी शामिल थे. सभी ने इस यात्रा में सुरक्षा व्यवस्था पर समीक्षा बैठक की. इस साल अमरनाथ की यात्रा कुल 62 दिनों की होगी. 1 जुलाई से 31 अगस्त तक चलने वाली इस यात्रा की शुरुआत 1 जुलाई से होने जा रही है.

Latest News

डॉ. राजेश्वर सिंह ने NCERT की पुस्‍तकों में हुए संशोधन की सराहना, कहा- ये परिवर्तन छात्रों को सूचना के दृष्टिकोण से बनाएंगे सशक्त

Dr Rajeshwar Singh: डॉ. राजेश्वर सिंह ने राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद द्वारा 12वीं कक्षा तक की पुस्तकों में किए गए...

More Articles Like This