Strange Voices Coming From Space: अंतरिक्ष से आ रही अजीबोगरीब रेडियो सिग्नल, कहीं इसकी वजह एलियंस तो नहीं…

Aarti Kushwaha
Aarti Kushwaha
Reporter The Printlines (Part of Bharat Express News Network)
Must Read
Aarti Kushwaha
Aarti Kushwaha
Reporter The Printlines (Part of Bharat Express News Network)

Strange Voices Coming From Space: हमारे वायुमंडल में कई ऐसी घटनाएं होती हैं, जिनसे हम अनजान रहते हैं. कभी-कभी ये घटनाएं हमारी कल्पना से कहीं ज्यादा भयावह और बड़ी हो सकती है. इसीलिए खगोलविदों की नजर हमेशा अंतरिक्ष में होने वाली गतिविधि पर बनी रहती है. ऐसे में इन दिनों पृथ्वी के बाहर कुछ ऐसी घटनाओं का होना पाया गया है जिसे लेकर खगोलविदों की भी चिंताएं बढ़ी हुई है.

दरअसल, अंतरिक्ष से कुछ अजीब और रुक-रुक कर आने वाला एक रेडियो सिग्नल दुनियाभर के खगोलविदों को हैरत में डाले हुए है. हाल ही में आए एक रिपोर्ट ने दुनियाभर के लोगों के भीतर उत्सुकता और डर दोनों पैदा कर रही है.

बेहद हैरतअंगेज तरंग

दरअसल, रिपोर्ट के अनुसार हाल ही खगोलविदों को ऐसे रेडियो तरंग मिले हैं जिसे न उन्होंने पहले कभी देखा है और न ही इसके बारे में सुना है. वैज्ञानिकों के अनुसार यह बेहद ही हैरतअंगेज है. उन्‍होंने बताया कि रुक-रुक कर आने वाली यह आवाज एक चक्र पूरा करने में करीब एक घंटे का समय लेती है.

लंबी धुन की तरह आती है आवाज

इन अजीबोगरीब आवाजों के बारे में रिपोर्ट में बताया गया है कि यह आवाज कभी एकदम लंबी धुन की तरह आती है तो कभी उज्ज्वल रूप से चमक जाती है, वही कई बार यह बहुत ही तेज सुनाई देती है, तो कभी एक कमजोर लहर पैदा करती है. जबकि कभी-कभी यह आवाज का चक्र अचानक सन्नाटे में पसर जाता है.

कुछ भी कहना सही नहीं

ऐसे में खगोलविदों ने कहा कि ‘हम यह स्पष्ट नहीं कह सकते कि असल में यहां हो क्या रहा है. उन्‍होने बताया कि शायद यह कोई असामान्य न्यूट्रॉन तारा हो सकता है, लेकिन इसके अन्य संभावनाओं को भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है. ऐसे में खगोलविदों के मन में इस आवाज को लेकर कई प्रकार की बाते आ रही है, तो वहीं कई लोग इसे एलियन से जोडकर देख रहे है. हालांकि खगोलविदों का कहना है कि फिलहाल इसके बारे में अभी कुछ भी कहना सही नहीं होगा.

नासा ने खोजा पृथ्‍वी जैसा दूसरा ग्रह

आपको बता दें कि अमेरिकी अंतरिक्ष एंजेसी नासा की इंटरनेशनल टीम ने ट्रांजिटिंग एक्सोप्लेनेट सर्वे सैटेलाइट (TESS) की मदद से एक नए ग्रह की खोज की थी, जो पृथ्वी से करीब 40 प्रकाश वर्ष दूर है. नासा ने बताया कि इस ग्रह का साइज और वायुमंडल बिल्‍कुल पृथ्वी की ही तरह ही दिखता है. नासा के अनुसार, यह ग्रह अब तक के खोजे गए किसी रहने योग्य एक्सोप्लैनेट्स में से सबसे करीब है. इसके अलावा यह रहने योग्य पृथ्वी के सबसे करीब वाला ग्रह बताया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें:- Indonesia: महिला को जिंदा निगल गया अजगर, तीन दिन बाद सांप के पेट से निकाली गई बॉडी

 

Latest News

PM मोदी के दौरे से पहले CM योगी ने काशी में तैयारियों का लिया जायजा

Varanasi News: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दो दिवसीय दौरे पर शुक्रवार शाम वाराणसी पहुंचे। सीएम योगी ने यहां प्रधानमंत्री नरेन्द्र...

More Articles Like This