Lenskart को मिली बड़ी सफलता, ChrysCapital से जुटाए $100 मिलियन डॉलर

Must Read

Lenskart got Funding: आजकल स्टार्टअप्स Fund की कमी से जूझ रहे हैं, ऐसे में अगर किसी स्टार्टअप को $100 मिलियन की फंडिंग मिज जाए तो ये किसी सपने के सच होने जैसा होता है. आपको बता दें कि ये सफलता lenskart को हासिल हुई है. ChrysCapital नाम के प्राइवेट इक्विटी फर्म से कंपनी को $100 मिलियन डॉलर की फंडिंग हासिल हुई है.

lenskart की ये सफलता इसलिए भी बड़ी हो जाती है, क्योंकि lenskart ने अभी दो माह पहले ही ADIA से $500 मिलियन की फंडिंग हासिल की थी. यह फंडिंग हाल के दिनों की सबसे बड़ी फंडिंग है, कंपनी को ये फंडिगं अपनी करंट वैल्यूएशन $4.5 बिलियन के ऊपर हासिल हुई है.

ये भी पढ़े:- London में भारतीय दूतावास पर हुए हमले के मुख्य आरोपी Avtar Singh Khanda की हुई मौत

बीते 1 वर्ष में मिली आधी से ज्यादा फंडिंग 

इस फंडिंग के साथ ही lenskart को अब तक टोटल $1.6 बिलियन की फंडिग हासिल हो चुकी है. जिसमें से करीब $850 मिलियन की फंडिंग बीते 1 वर्ष में हासिल हुई है. Lenskart को मिली ये फंडिंग कंपनी को इसके कंप्टीटर टाटा ग्रुप के Titan Eyeplus और Reliance Retail को टक्कर देने में मदद करेगी. आपको बता दें, lenskart के साथ 9 वर्ष तक लगातार काम करने के बाद मोहित अरोरा ने इसी वर्ष मार्च में कंपनी छोड़कर Reliance Retail का दामन थामा है.

मोहित Reliance में उनके लग्जरी सेगमेंट को देखेंगे. Eyewear Segment में स्केल करना आसान नहीं है, क्योंकि इस सेंगमेंट में टाटा और रिलायंस के अलावा Coolwinks, Lawrence & Mayo, GKB Lens, Ray-Ban जैसे बड़े दिग्गजों का वर्चस्व है. इनके सामने स्केल करना lenskart के लिए आसान नहीं होगा. हालांकि, हाल के दिनों में मिली फंडिंग से गुरूग्राम बेस्ड कंपनी को अपनी ऑफलाइन प्रेजेंस बढ़ाने में मदद मिलेगी.

ये भी पढ़े:- Bhojpuri Actresses: Monalisa से लेकर Akshara Singh तक, जानें कितनी पढ़ी-लिखी…

इसके अलावा lenskart की एक फैक्ट्री का काम भी जल्द शुरू हो जाएगा. इस फैक्ट्री में हर वर्ष 20 मिलियन आईवेयर बनाने और शिप करने की योजना है. कंपनी की वित्तीय हालत की बात करें, तो lenskart ने लगातार दूसरे वर्ष रेवेन्यू में 60 प्रतिशत इजाफा होने की बात कही है. साल 2008 में स्थापित lenskart के इंवेस्टर्स में SoftBank, Alpha Wave Global, Temasek, KKR और TPG जैसे बड़े नाम शामिल हैं.

Latest News

डॉ. राजेश्वर सिंह ने NCERT की पुस्‍तकों में हुए संशोधन की सराहना, कहा- ये परिवर्तन छात्रों को सूचना के दृष्टिकोण से बनाएंगे सशक्त

Dr Rajeshwar Singh: डॉ. राजेश्वर सिंह ने राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद द्वारा 12वीं कक्षा तक की पुस्तकों में किए गए...

More Articles Like This