बेंगलुरु: यंग कपल के लिए काल बनी गीजर की जहरीली हवा! बाथरूम में मिला दोनों का शव

Must Read

बेंगलुरूः बेंगलुरु से दुर्घटना की एक बड़ी खबर सामने आ रही है. यहां बाथरूम में लगा गीजर यंग कपल के लिए काल बन गया। गीजर से निकली जहरीली हवा से दोनों की मौत हो गई. यह दुर्घटना एयरपोर्ट से करीब 10 किमी दूर येलहंका तालुक के ताराबनाहल्‍ली गांव में घटी. घटना रविवार शाम की बताई जा रही है. पुलिस का कहना है कि दोनों शव बाथरूम में मिले हैं, ऐसी आशंका है कि जहरीली हवा (कार्बन मोनो ऑक्‍साइड) के कारण दोनों की मौत हो गई हो. मृतकों की पहचान चामराजनगर जिले के चंद्रशेखर (30) और बेलगावी जिले की सुधा रानी (22) के रूप में हुई है. ये दोनों बहुत जल्‍द शादी करने वाले थे, वे लिव- इन रिलेशनशिप में थे.

पुलिस ने बताया कि ये कपल बेंगलुरु एयरपोर्ट के पास एक स्‍टार होटल में काम करते थे. मृतक एम चंद्रशेखर और सुधारानी बिन्‍नी के रूप में पहचाने गए शव को पोस्‍टमार्टम के लिए भेजा गया है. दोनों के शव उस वॉशरूम से मिले, जिसकी खिड़कियां और दरवाजे अंदर से बंद थे. ऐसी आशंका है कि गीजर से निकली जहरीली हवा से उनकी मौत हुई. यह घटना उनकी मौत के दूसरे दिन सामने आई है. दरअसल, दोनों के होटल न पहुंचने पर होटल के कर्मचारी उनकी तलाश में उनके घर पहुंचे थे. आवाज लगाने पर जब घर के अंदर से कोई जवाब नहीं आया तो मकान मालिक ने पुलिस को सूचना दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा तोड़कर देखा दोनों के शव बाथरूम में पड़े थे.

चंद्रशेखर और सुधारानी जल्‍द करने वाले थे शादी
पुलिस अधिकारी ने बताया कि चंद्रशेखर और सुधारानी अपने परिवारों की सहमति से जल्‍द ही शादी करने वाले थे. 10 जून की शाम करीब 6 बजे ये दोनों घर लौटे थे. इसके बाद घर के भीतर क्‍या हुआ और कैसे दोनों की मौत हुई? इस गुत्‍थी को लेकर कई थ्‍योरीज सामने आई हैं. पुलिस का कहना है कि ये कपल बाथरूम में था और तभी जहरीली गैस से दोनों अचेत हो गए होंगे और उनकी मौत हो गई होगी. इस बाथरूम में 7.5 लीटर का गैस गीजर लगा हुआ है, जिसका कनेक्‍शन एलपीजी सिलेंडर से था.

Latest News

NSD के भारत रंग महोत्सव की 25वीं वर्षगांठ के समापन समारोह में भारत एक्सप्रेस न्यूज नेटवर्क के CMD उपेंद्र राय को किया गया सम्मानित

संस्कृति मंत्रालय और एनएसडी ने देश भर में 1 फरवरी से दुनिया के सबसे बड़े अंतराष्ट्रीय थियेटर फेस्टिवल भारत...

More Articles Like This