Uttarakhand: बेटे की चाह में निर्दयी पिता ने कर दी दो मासूम बेटियों की हत्या, हुआ फरार

Must Read

डोईवालाः उत्तराखंड से एक हैरान करने वाली खबर आ रही है. यहां डोईवाला कोतवाली क्षेत्र की केशवपुरी बस्ती निवासी एक निर्दयी पिता ने बेटे की चाह में अपने दो मासूम बेटियों की हत्या कर दी. वारदात के बाद आरोपी पिता फरार हो गया. यह घटना शनिवार की रात में हुई. जब दादी घर पहुंची तो बाहर से दरवाजा बंद मिला. वह दरवाजा खोलकर अंदर गई तो देखा कि दोनों बच्चियां अचेत पड़ी थी. तत्काल उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया.

हृदयविदारक यह वारदात डोईवाला कोतवाली क्षेत्र की केशवपुरी बस्ती की है. कोतवाली प्रभारी राजेश साह ने बताया, शुक्रवार रात करीब साढ़े आठ बजे पुलिस को सूचना मिली कि वहां एक घर में दो बच्चियां मृत मिली हैं. मौके पर पहुंची पुलिस ने छानबीन की और शवों का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी में रखवा दिया. कोतवाल ने बताया कि बच्चियों की पहचान आंचल (साढ़े तीन वर्ष) और अनुषा (डेढ़ वर्ष) पुत्री जितेंद्र साहनी निवासी दरभंगा बिहार के रूप में हुई है. जितेंद्र यहां कबाड़ बीनने का काम करता है.

इन दिनों वह दोनों बेटियों और मां दुर्गा देवी के साथ यहां रह रहा था, जबकि उसकी पत्नी रीना झगड़ा के कारण घर छोड़कर कहीं चली गई है. जितेंद्र और उसकी मां शुक्रवार को भी काम पर गए थे. रात को जब आरोपी की मां दुर्गा देवी घर वापस आईं और कमरे में गई तो अंदर का नजारा देख उनके होश उड़ गए. पुलिस के मुताबिक, बच्चियों के गले पर निशान पाए गए हैं. प्रथम दृष्टया आशंका जताई जा रही है कि गला दबाकर उनकी हत्या की गई है.

बेटियों की हत्या कर हुआ फरार
उधर, पड़ोस में रहने वाली बच्चियों की नानी आशु देवी ने पुलिस को तहरीर दी. तहरीर में आरोप लगाया कि बेटा नहीं होने के कारण जितेंद्र और उसकी मां उनकी बेटी रीना को आए दिन ताना मारते थे और मारपीट भी करते थे. इससे तंग आकर वह कुछ महीने पहले मायके चली गई थी. वहां से लौटकर आई फिर भी ससुराल वालों का यही रवैया रहा. आखिरकार तंग आकर दो महीने पहले वह घर छोड़कर हैदराबाद चली गई. आरोप है कि शुक्रवार को जितेंद्र ने दोनों बेटियों की हत्या कर दी और फरार हो गया.

बच्चियों को मारने की देता था धमकी
आशु देवी ने आरोप लगाया कि जितेंद्र अक्सर गुस्से में रहता था. कहता था, बच्चियों के कारण उसकी दूसरी शादी नहीं हो पा रही है. वह उन्हें अक्सर मारने की धमकी भी देता था. कहता था कि रीना नहीं आई तो बच्चियों को नहीं छोड़ूंगा. आए दिन वह अपनी ससुराल पहुंच जाता था और बेटा नहीं होने को लेकर पत्नी से झगड़ा करता था. कोतवाल का कहना है कि मामले में जितेंद्र के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर मामले की पड़ताल शुरु कर दी गई है. जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

Latest News

दिल्ली पहुंची बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना, इन मुद्दो पर होगी द्विपक्षीय वार्ता

Sheikh Hasina reached Delhi: बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना दो हफ्ते के अंदर दूसरी बार भारत दौरे पर आई...

More Articles Like This