बरेलीः मंडप से खिसक लिए दूल्हे राजा, पीछा कर दुल्हन ने पकड़ा, फिर…

Must Read

बरेली। यूपी के बरेली जिले से एक रोचक खबर प्रकाश में आ रही है। यहां मंदिर में प्रेमिका से हो रही शादी के दौरान दूल्हे राजा बहाना बनाकर खिसक लिए। फिर क्या था, दुल्हन बनी प्रेमिका ने करीब बीस किलोमीटर पीछा कर अपने प्रेमी दूल्हे राजा को पकड़ लिया। पहले तो सड़क पर हाई वोल्टेज ड्रामा हुआ, बाद में फिर बात बनी और दूल्हे राजा ने प्रेमिका दुल्हन के साथ सात फेरे लिया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, बरेली के पुराना शहर की रहने वाली युवती का ढाई वर्ष से बदायूं जिले के बिसौली के एक युवक से प्रेम प्रसंग चल रहा था। परिवार के लोगों को जब इसकी जानकारी हुई तो वह बदनामी से बचने के लिए शादी के लिए राजी हो गए। युवती ने भी प्रेमी को शादी के लिए मना लिया।
बरेली के एक मंदिर में रविवार को युवती के घरवालों की मौजूदगी में शादी कराने की तैयारियां की गईं। सात फेरे के लिए दुल्हन के लिबास में युवती मंडप में पहुंची। इसी बीच अचानक ना जाने क्यो प्रेमी का दीमाग घूम गया। वह प्रेमिका से खुद को सजने-संवरने और अपनी मां को बुलाने की बात कहकर मंडप से चला गया।

सड़क पर हुआ हाई वोल्टेज ड्रामा
जब काफी देर तक प्रेमी नहीं लौटा तो दुल्हन का माथा घूमने लगा। उसने फोन पर दूल्हे से संपर्क किया तो उसने बताया कि वह अपनी मां को बुलाने बिसौली जा रहा है। फिर क्या, दूल्हे राजा को पकड़ने के लिए दुल्हन निकल पड़ी। करीब 20 किलोमीटर पीछा कर दूल्हे को भमोरा में एक बस में बैठे हुए पकड़ लिया। इस बीच हर किसी की युवती पर इस बात को लेकर टिक गई कि आखिरकार यह युवती दुल्हन के लिबास में क्यों पहुंची और माजरा क्या है। बाद में पता लगा कि दूल्हा मंडप से भाग आया है। दुल्हन ने उसे बस से उतार लिया, वहीं दूल्हा अपनी मां को लेकर आने की जिद करने लगा और सड़क पर हाई वोल्टेज ड्रामा शुरु हो गया। दुल्हन सात फेरे लेकर शादी करने की जिद पर अड़ गई।

दोनों के बीच काफी देर तक विवाद होता रहा। मौके पर भीड़ एकत्र हो गई। बाद में युवक मान गया और दुल्हन के साथ मंदिर आ गया। भमोरा के शिव मंदिर में शादी कर दुल्हन बनी प्रेमिका के गले में मंगल सूत्र बांधा। इसके बाद दुल्हन हंसी-खुशी अपने पति सहित घरवालों के साथ बरेली चली गई। इस अनोखी की शादी की लोगों की चर्चा होती रही।

Latest News

डॉ. राजेश्वर सिंह ने NCERT की पुस्‍तकों में हुए संशोधन की सराहना, कहा- ये परिवर्तन छात्रों को सूचना के दृष्टिकोण से बनाएंगे सशक्त

Dr Rajeshwar Singh: डॉ. राजेश्वर सिंह ने राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद द्वारा 12वीं कक्षा तक की पुस्तकों में किए गए...

More Articles Like This