Bhagalpur News: प्रेमी के घर मिली ससुराल से फरार दगाबाज दुल्हनियां, फिर…

Must Read

Bhagalpur News: शादी के मंडप में हाथों में मेहंदी, गले में मंगल सूत्र और आंखों में काजल लाकर सोलह श्रृंगार में अपने होनों वाले साजन के साथ बैठी दुल्हन की लाल जोडे़ के पीछे की कहानी सुनेंगे तो आप भी हैरान हो जाएंगे. क्योंकि इसने दुल्हन बनकर रिश्तों के पन्नों पर ऐसी कहानी लिखी है, जिसके बाद से दूल्हे के अरमानों पर पानी फिर गया है और दगाबाज दुल्हन की चर्चा शहर से लेकर गांव तक हो रही है.

इस मामले की चर्चा भागलपुर (Bhagalpur) से मुंगेर तक हो रही है. बता दें कि शादी के मंडप पर बैठी दुल्हन अपने होने वाले पिया के नाम की मेहंदी रचाकर, मांग में सिंदूर लगाकर, लेकिन अपने दिल में गहरा राज छिपाए हुई है. जिसकी भनक किसी को नहीं है ना ही पास में बैठे दूल्हे राजा को, ना ही दूल्हन के परिजनों को जो भर भरकर दोनों को आशीर्वाद दे रहे है. साथ बैठकर फोटो खिंचवा रहे है और दुल्हन चुप्पी साधे बैठी है.

दूल्हे राजा सुहागरात के सपने देख रहा है. मन ही मन अपनी दुल्हनियां को पाकर इतरा रहा है, लेकिन दुल्‍हे के चेहरे की चमक तब उतर गई. जब 7 फेरों के बाद वो अपनी दुल्हनियां को लेकर अपने घर गया और सुहागरात की तैयारी करने लगा. सुहागरात की सेज सजाने लगा. लेकिन, इसके अरमानों पर पानी फिर गया और सुहागरात का सपना सपना ही रह गया, जिसके बाद से ये अपनी हाथों की महेंदी दिखाकर अधूरी सुहागरात की कहानी सुना रहा है, जिसकी खौफनाक सच्चाई जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे.. तो चलिए जानते है…

भागलपुर जिले के नवगछिया के नारायणपुर प्रखंड के रहने वाले नंदलाल ठाकुर की शादी 21 मई 2023 को मुंगेर जिले के बरियारपुर थाना क्षेत्र के लोहछी लक्ष्मीपुर में मौसम कुमारी से हिन्दू रीति रिवाज से बड़े ही धूम-धाम से हुई थी, जिसका गवाह पूरा परिवार और समाज बना था. उसके बाद दूल्हा नंदलाल ठाकुर अपनी दुल्हनियां मौसम कुमारी को 22 मई को अपने घर नवगछिया लेकर आ गया. जहां आने के बाद सुहागरात की तैयारी होने लगी. दूल्हा रात होने का इंताजर करने लगा. जब रात का पहरा बढ़ा तो घर के सभी लोग खाना खाने के बाद अपने अपने कमरे में सोने के लिए चले गए. दूल्हा नंदलाल की भी आंख लग गई, क्योंकि वो भी थका हुआ था. क्योंकि वो 60 किलो मीटर की लंबी दूरी तय कर अपनी दुल्हनिया को लेकर अपने घर आया था.

रात के पहरे के साथ-साथ समय की सुई भी आगे बढ़ रही थी. इसी बीच मौका देखकर रात के लगभग 2 बजे दगाबाज दुल्हन मौसम अपने दीवाने को अपने पति के पीठ पीछे फोन की, जिसका ब्लू प्रिंट वो पहले से तैयार कर रखा था. जिसका इंतजार उसका दीवाना बेसब्री कर रहा था. दुल्‍हन मौसम का फोन आते ही. उसका दीवाना उसे लेने के लिए निकल पड़ा. जहां पहुंचते ही दुल्हन मौसम कैश और जेवर लेकर दबे पांव सुहागरात की सेज से उठकर अपने आशिक के साथ फरार हो गई. जिसकी भनक किसी को नहीं लगी.

जब रात के लगभग ढाई बजे तो, दूल्हे की नींद खुली और वो अपने कमरे में गया. तो देखा कि दुल्हन गायब है. उसके बाद परिवार के सदस्यों की नींद उड़ गई और सभी मिलकर दुल्हन की तलाश करने लगे. मोबाइल पर फोन करने लगे, जिसका नंबर स्विच ऑफ बताने लगा. कभी तलाश करने के बाद भी दुल्हन का कोई सुराग हाथ नहीं लगा और ना ही उसका कोई अता-पता चला क्योंकि वो अपने दीवाने के साथ रात के सन्नाटे में गांव की सीमा को लांघ चुकी थी. थकहाकर दूल्हे ने थाने पहुंचाकर शिकायत दर्ज करा दी.

ये भी पढ़े:- Odisha Train Accident: हे ईश्वर किसी को इतनी भी पीड़ा न दीजिए…

दूल्हे नंदलाल ठाकुर की शिकायत को आधार बनाते हुए पुलिस छानबीन करने लगी और फरार दगाबाज दुल्हन की तलाश करने लगी. 4 दिनों की तलाश के बाद पुलिस दुल्हन मौसम को उसके दिवाने के साथ गिरफ्तार की. वहीं नवगछिया एसपी सुशांत कुमार ने बताया कि दुल्हन की बरामदगी के बाद उसका 164 का बयान दर्ज कराया गया. उसके बाद दुल्‍हन को कोर्ट में पेश किया गया.

जहां उसने अपने पिया नंदलाल ठाकुर के साथ रहने से इनकार कर दिया, जिसके बाद पुलिस दुल्हन मौसम को कोर्ट के आदेशानुसार उसके आशिक के घर ले जाकर छोड़ दी. जहां वो अभी रह रही है, क्योंकि वो दूल्हे नंदलाल ठाकुर के साथ जिंदगी नहीं बिताना चाहती थी. परिवार के दवाब में शादी कर ली थी, लेकिन उसका दिल उसके आशिक के लिए धड़क रहा है, जो फरार है.

ये भी पढ़े:- गृहमंत्री Amit Shah ने पूर्व सीएम Chandrababu Naidu से की मुलाकात

Latest News

प्रभु विषयक भक्तिरस में होती है अनोखी मिठास: दिव्य मोरारी बापू 

Puskar/Rajasthan: परम पूज्य संत श्री दिव्य मोरारी बापू ने कहा, भागवत प्रसादी- भक्ति रस श्रीकृष्ण की कथा में सभी...

More Articles Like This