Madhya Pradesh: CBI ने रिश्वत लेते हुए GST के डिप्टी कमिश्नर सहित पांच को किया गिरफ्तार

Must Read

Madhya Pradesh: गुटखा कारोबारी से मध्यप्रदेश के जबलपुर में पदस्थ सेंट्रल जीएसटी के डिप्टी कमिश्नर और चार निरीक्षकों को सात लाख रुपये की रिश्वत लेना महंगा पड़ गया. सीबीआई ने डिप्टी कमिश्नर कपिल कामले सहित चार इंस्पेक्टरों को रंगेहाथ दबोच लिया. उनसे पूछताछ जारी है. इनके कार्यालय से 21 लाख रुपये मिलने की बात भी सामने आ रही है. सूत्रों की माने तो, राजस्थान के दौसा के रहने वाले त्रिलोक चंद सेन ने दमोह के पास नोहटा में पान मसाला फैक्ट्री डाली थी.

जाने क्यों मांगी थी एक करोड़ की रिश्वत
इसी वर्ष 19 मई को सेंट्रल जीएसटी की टीम ने छापा मारा और उनसे 10 लाख रुपए का कर बकाया बताते हुए रिकवरी निकाली, इसके कारण फैक्ट्री बंद थी. उसके बाद सेंट्रल जीएसटी के अधिकारियों और कारोबारी त्रिलोक चंद्र के बीच सौदा हुआ और जीएसटी के अधिकारियों की तरफ से एक करोड़ की मांग हुई, लेकिन मामला कम में तय हुआ. 25 लाख रुपए व्यापारी पहले दे चुका था और सात लाख देने की बात पर उसने सीबीआई में शिकायत की.

सीबीआई की टीम ने आरोपियों को रंगेहाथ पकड़ा
त्रिलोक चंद ने मीडिया को बताया कि उसने परेशान होकर अधिकारियों की शिकायत सीबीआई से की. इसके बाद डिप्टी कमिश्नर कामले और उनके साथियों को रंगेहाथ पकड़ने की योजना बनाई गई, जिसके तहत रसल चौक के करीब स्थित कार्यालय में मंगलवार की शाम को उसने पान मसाले के थैले में सात लाख रुपये के साथ अपने मैनेजर को भेजे. जैसे ही रुपए डिप्टी कमिश्नर को दिए गए, सीबीआई की टीम ने आरोपियों को रंगेहाथ पकड़ लिया.

सीबीआई ने ऑफिस से डिप्टी कमिश्नर कपिल कामले के अलावा चार इंस्पेक्टर को दबोच लिया. सभी को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है. इस दौरान उनके दफ्तर से 21 लाख रुपए मिलने की बात भी सामने आ रही है.

Latest News

भारत में सबसे आकर्षक एंटरटेनमेंट ब्रांड्स को साथ लाने के लिए Reliance और डिज़्नी ने की स्ट्रैटेजिक जॉइंट वेंचर की घोषणा

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड वायकॉम 18 मीडिया प्राइवेट लिमिटेड और वॉल्ट डिज़नी कंपनी (NYSE: DIS) (Disney) ने आज एक संयुक्त...

More Articles Like This