BJP का राष्ट्रीय अधिवेशनः पूर्व की सरकारों पर जमकर बरसे अमित शाह, कहा…

Ved Prakash Sharma
Ved Prakash Sharma
Reporter The Printlines (Part of Bharat Express News Network)
Must Read
Ved Prakash Sharma
Ved Prakash Sharma
Reporter The Printlines (Part of Bharat Express News Network)

नई दिल्लीः भाजपा के राष्ट्रीय अधिवेशन के दूसरे दिन केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने संबोधित किया. इस दौरान केंद्रीय गृह मंत्री ने पूर्व सरकारों पर जमकर बरसे. उन्होंने कहा कि 75 साल में इस देश ने 17 लोकसभा चुनाव, 22 सरकारें और 15 प्रधानमंत्री देखें हैं.

‘देश के लोकतंत्र को खत्म कर रही INDI गठबंधन’
अमित शाह ने कहा, ‘INDI गठबंधन और कांग्रेस पार्टी इस देश के लोकतंत्र को खत्म कर रही है. उन्होंने देश के लोकतंत्र को भ्रष्टाचार, परिवारवाद, तुष्टिकरण, जातिवाद से रंग दिया. परिवारवादी पार्टियां इस तरह की लोकतांत्रिक व्यवस्थाएं करने में लगी रही कि कभी भी जनमत स्वतंत्र रूप से उभर कर न आए. PM मोदी ने 10 साल में भ्रष्टाचार, परिवारवाद, तुष्टिकरण और जातिवाद को समाप्त कर विकास किया.’

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि 75 वर्षों में देश में हर सरकार ने अपने समय पर समयानुकूल विकास करने का प्रयास किया है, लेकिन आज मैं बिना किसी कन्फ्यूजन के कह सकता हूं कि समग्र विकास, हर क्षेत्र का विकास और हर व्यक्ति का विकास करने का काम केवल पीएम मोदी के 10 वर्षों में हुआ है.

‘देश ने तय किया है कि फिर से PM मोदी ही बनेंगे प्रधानमंत्री’
बीजेपी के राष्ट्रीय अधिवेशन में अमित शाह ने कहा, ‘इस अधिवेशन के बाद 2047 का भारत कैसा होगा इसका PM मोदी का संदेश लेकर हम हर चुनाव क्षेत्र में जाएंगे. पूरे देश में कही संशय नहीं है, देश ने तय किया है कि PM मोदी ही फिर से प्रधानमंत्री बनेंगे.’

‘अगले चुनाव में दो खेमें आमने-सामने हैं’
शाह ने कहा, ‘मैं आज आप सबके माध्यम से भाजपा के करोड़ों कार्यकर्ताओं से कहना चाहता हूं कि अगले चुनाव में दो खेमें आमने-सामने हैं. एक तरफ है नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में NDA का गठबंधन और दूसरा है कांग्रेस के नेतृत्व में सारी परिवारवादी पार्टियों का घमंडिया गठबंधन. ये घमंडिया गठबंधन भ्रष्टाचार, परिवारवाद और तुष्टिकरण की राजनीति का पोषक है और भाजपा एवं NDA गठबंधन राष्ट्र प्रथम के सिद्धांत पर चलने वाला गठबंधन है.’

राष्ट्रीय अधिवेशन में राम मंदिर का हुआ जिक्र
इससे पहले बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने राष्ट्रीय अधिवेशन को संबोधित किया. उन्हेंने कहा, ‘9 नवंबर 2019 को सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र का गठन किया और इसके परिणामस्वरूप राम मंदिर का निर्माण कार्य तेज गति से चला और सिर्फ 4 वर्षों में 22 जनवरी को रामलला की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा की गई’.

मालूम हो कि बीजेपी के राष्ट्रीय अधिवेशन के दूसरे दिन पार्टी नेताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का माला पहनाकर स्वागत-अभिनंदन किया.

Latest News

सुप्रीम कोर्ट पहुंचे झारखंड के पूर्व CM Hemant Soren , कहा- गिरफ्तारी के खिलाफ हाई कोर्ट फैसला नहीं सुना रहा

झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अपनी गिरफ्तारी और ईडी की कार्रवाई के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में एसएलपी...

More Articles Like This