Bhanu Saptami Vrat: भानु सप्तमी पर करें ये उपाय, सूर्य देव दिलाएंगे मान-सम्मान के साथ पद-पैसा

Must Read

Bhanu Saptami Vrat Puja Vidhi: हिंदू धर्म में सूर्य को देवता माना गया है. सूर्य देव को सफलता, सेहत, आत्मविश्वास का कारक ग्रह माना गया है. ऐसी मान्यता है कि जिसकी कुंडली में सूर्य की स्थिति मजबूत होती है, उन्हें लाइफ में कभी किसी परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता है. वैसे तो सूर्य देव को नियमित अर्घ्य देना चाहिए. लेकिन आषाढ़ माह के शुक्ल पक्ष की सप्तमी यानी भानु सप्तमी पर सूर्य देव की पूजा का अपना अलग ही महत्व है. ऐसी मान्यता है कि इस दिन सूर्य देव की पूजा उपासना करने से हमारे कुंडली में सूर्य की स्थिति मजबूत होती है और हमारे मान-सम्मान के साथ धन-दौलत में तरक्की होती है.

भानु सप्तमी व्रत
भानु सप्तमी का व्रत रखना बहुत ही लाभदायक होता है. ज्योतिष के अनुसार भानु सप्तमी का व्रत कुंडली में मौजूद मंगल के अशुभ प्रभाव, रोगमुक्ति, वंश वृद्धि, समाजित पद-प्रतिष्ठा में वृद्धि के लिए रखा जाता है.

कब है भानु सप्तमी 2023
हिंदू पंचांग के अनुसार आषाढ़ माह के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि 25 जून को पड़ रही है. इस बार भानु सप्तमी रविवार को पड़ रही है. इसलिए इसका महत्व और बढ़ गया है, क्योंकि सूर्य देव की पूजा उपासना के लिए रविवार का दिन सर्वोत्तम होता है.

भानु सप्तमी के उपाय
भानु सप्तमी के दिन सूर्योदय से पहले जाग जाएं. इसके बाद स्नान कर नारंगी रंग के कपड़े पहने. तत्पश्चात तांबे के पात्र में अक्षत, लाल पुष्प, चंदन और शक्कर डालें. इसके बाद इसमें जल भर कर सूर्य देव को अर्घ्य दें. ऐसा करने से सूर्य देव प्रसन्न होते हैं.

भानु सप्तमी यानी 25 जून दिन रविवार को आदित्य हृदय स्त्रोत का पाठ करें. ऐसा करने से सूर्य देव की कृपा प्राप्त होती है और हमारे तेज पराक्रम बढ़ता है.

इस दिन सूर्य देव की विधि विधान से पूजा करें और सूर्य चालीसा का पाठ करें. ऐसा करने से सूर्य देव की कृपा से आपके धन दौलत में तरक्की होगी.

भानु सप्तमी के दिन जरुरतमंद ब्राम्हण को लाल कपड़े, गेहूं, तांबा, गुड़ आदि चीजों का दान करें. ऐसा करने से सूर्य देव प्रसन्न होते हैं और हमारे कुंडली में सूर्य की स्थिति मजबूत होती है. जिससे हमें करियर में आसानी से सफलता मिलने लगती है.

ये भी पढ़ेंःBlack Thread: पैरों में काला धागा बांधने से पहले जान लें ये नियम, वरना हो जाएंगे परेशान

भानु सप्तमी पर इन सूर्य मंत्रों का जाप जरूर करें.

  1. ॐ सूर्याय नमः.
  2. ॐ रवये नमः.
  3. ॐ भानवे नमः.
  4. ॐ आदित्याय नमः.
  5. ॐ खगाय नमः.
  6. ॐ भास्कराय नमः.

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और विभिन्न जानकारियों पर आधारित है. The Printlines इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

Latest News

Uttarakhand News: सीएम धामी ने की अग्निवीरों को आरक्षण देने की घोषणा, कहा- जरूरत पड़ी तो बनाएंगे कानून

Uttarakhand News: सरकार अब उत्तराखंड में अग्निवीरों को आरक्षण देगी. मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (Pushkar Singh Dhami) ने रविवार,...

More Articles Like This