अवधेश राय हत्याकांडः माफिया मुख्तार अंसारी दोषी करार, दोपहर में होगा सजा का ऐलान

Must Read

Mafia Mukhtar Ansari Convicted: वाराणसी के एमपी-एमएलए कोर्ट ने अवधेश राय हत्याकांड में अपना फैसला सुना दिया है. कोर्ट ने मुख्तार अंसारी को दोषी ठहराया है. करीब तीन दशक बाद कोर्ट ने मुख्तार अंसारी को दोषी करार दिया है. वैसे तो, कोर्ट ने अभी सजा का ऐलान नहीं किया है, लेकिन संभावना जताई जा रही है कि दोपहर दो बजे के बाद कोर्ट सजा का ऐलान भी करेगी. मालूम हो कि अवधेश राय कांग्रेस नेता अजय राय के भाई थे. चेतगंज थाना से महज 50 मीटर दूर बदमाशों ने अवधेश राय पर गोलियों की बौछार कर हत्या कर दी थी. हत्या की साजिश का आरोप मुख्तार अंसारी पर लगा था. माफिया डॉन मुख्तार अभी बांदा जेल में बंद है.

मालूम हो कि एक वर्ष में मुख्तार अंसारी के खिलाफ चार मामलों में सजा सुनाई जा चुकी है, लेकिन अवधेश राय हत्याकांड सभी मामलों में सबसे बड़ा है. कोर्ट 2 बजे के बाद सजा का ऐलान करेगी. इसके मद्देनजर कोर्ट परिसर में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं.

सिविल कोर्ट परिसर में आने-जाने वाले प्रत्येक व्यक्ति पर पुलिस और खुफिया विभाग के लोगों की नजर है। अधिवक्ता अनुज यादव ने बताया कि दिनदहाड़े अवधेश राय की हत्या की गई थी. 32 वर्ष पुराने इस मामले में एमपी-एलएलए कोर्ट ने मुख्य आरोपी मुख्तार अंसारी को दोषी करार दिया है. घटना के दो चश्मदीद गवाहों ने गवाही दी। लंच के बाद दोपहर दो बजे कोर्ट में सजा का ऐलान होगा.

सोमवार को एमपी-एमएलए कोर्ट के फैसले का अजय राय ने स्वागत किया. उन्होंने कहा कि बड़े भाई की नृशंस तरीके से हत्या करने वाले को अदालत कठोरतम सजा से दंडित करेगी. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि बड़े भाई की हत्या करने वाले अपराधियों के खिलाफ तीन दशक से ज्यादा समय से संघर्ष कर रहा हूं. माफिया के धनबल, बाहुबल और सत्ता से गठजोड़ के आगे कभी नहीं झुका. न्याय प्रणाली पर पूरा भरोसा है.

बदमाशों ने की थी अंधाधुंध फायरिंग

तीन अगस्त 1991 को वाराणसी के चेतगंज थाना क्षेत्र के लहुराबीर इलाके में रहने वाले कांग्रेस नेता अवधेश राय अपने भाई अजय राय के साथ घर के बाहर खड़े थे. सुबह का वक्त था. इसी दौरान एक वैन से आए बदमाशों ने अचानक फायरिंग शुरू कर दी थी. अवधेश राय को गोलियों से छलनी कर दिया गया था. अस्पताल में उन्हें मृत घोषित कर दिया गया था. इस वारदात से पूरा पूर्वांचल सहम उठा था.

इस मामले में पूर्व विधायक अजय राय ने मुख्तार अंसारी को मुख्य आरोपी बनाया. साथ में भीम सिंह, कमलेश सिंह व पूर्व विधायक अब्दुल कलाम और राकेश न्यायिक का भी नाम रहा. इनमें से कमलेश व अब्दुल कलाम की मौत हो चुकी है. राकेश न्यायिक का केस प्रयागराज कोर्ट में चल रहा है.

हत्या जैसे मामले में फोटोस्टेट पत्रावली के आधार पर सुनवाई का संभवत: यह पहला प्रकरण है. इसके बाद मामला हाईकोर्ट तक गया, लेकिन, लंबी कानूनी प्रक्रिया के तहत यहीं की अदालत में सुनवाई पूरी हुई. दोनों पक्षों की बहस पूरी होने के बाद अदालत ने पांच जून को फैसले के लिए पत्रावली सुरक्षित रख ली थी. आज कोर्ट ने मुख्तार अंसारी को दोषी करार दिया.

Latest News

दिल्ली पहुंची बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना, इन मुद्दो पर होगी द्विपक्षीय वार्ता

Sheikh Hasina reached Delhi: बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना दो हफ्ते के अंदर दूसरी बार भारत दौरे पर आई...

More Articles Like This