UP Politics: NDA में शामिल होंगे OP Rajbhar, जानिए कहां फंस रहा पेंच?

Must Read

UP Politics: अपने बयानों के लिए जाने जाने वाले सुभसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओपी राजभर (OP Rajbhar) एक बार फिर से चर्चा में हैं. दरअसल, इस बार जानकारी निकल कर सामने आई है कि वो एक बार फिर से एनडीए (NDA) का हिस्सा हो सकते हैं. सूत्रों की माने तो केंद्रीय मंत्रिमंडल में फेरबदल के बाद उत्तर प्रदेश की योगी सरकार भी मंत्रिमंडल में विस्तार कर सकती है. कयास लगाए जा रहे हैं कि इस विस्तार में कई नए नामों पर मुहर लग सकती है. वहीं सूत्रों की माने तो ओमप्रकाश राजभर भी इस मंत्रीमंडल का हिस्सा हो सकते हैं.

यह भी पढ़ें- UP News: महाराष्ट्र के बाद क्या यूपी में भी होगी टूट! सपा को लेकर OP Rajbhar ने दिया बड़ा बयान

सरकार के प्रति नरम रवैया

ओपी राजभर सपा से अलग होने के बाद बीजेपी के लिए नरम रहते देखे गए हैं, हालांकि वो अखिलेश को लेकर तमाम बयानबाजी करते हुए हमला बोलते नजर आए हैं. बीजेपी के प्रति नरम और विपक्ष प्रति गरम तेवर ही दिखाता रहा हैओपी राजभर एनडीए का हिस्सा एक बार फिर से हो सकते हैं. हालांकि सूत्रों से मिली जानकारी में निकल कर सामने आया है कि यदि यूपी की योगी सरकार, मंत्रिमंडल में विस्तार करती है तो ओपी राजभर को स्थान मिल सकता है. हाल ही में हुए एमएलसी के उपचुनाव में ओपी राजभर डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक की कार में सवार नजर आए थे, इसको लेकर तमाम प्रकार की खबरें मीडिया में चली थी. हालांकि इसको उन्होंने महज एक इत्तेफाक बताया था.

यह भी पढ़ें- Monsoon Update: IMD की चेतावनी, देश के इन राज्यों में भारी बारिश का रेड अलर्ट

कहां फंस रहा पेंच

पिछले कुछ समय में वो बीजेपी के पक्ष में ही बोलते नजर आए हैं. हालांकि उन्होंने सरकार से जातिगत जनगणना की मांग की है. जानकारों की माने तो अगर जातिगत जनगणना पर सरकार राजभर की बात मानती है या कोई आश्वासन देती है तो संभव है कि राजभर एनडीए का हिस्सा हो जाएं. लेकिन अभी इसको लेकर कोई पुष्टी करने वाली जानकारी सामने नहीं आई है. राजभर गाजीपुर के जहूराबाद विधानसभा सीट से विधायक हैं. पूर्वांचल की कुछ सीटों पर राजभर का दबदबा है, यही कारण है कि राजभर जिसके साथ जाते हैं कही ना कहीं वो पिछड़े वोटों को प्रभावित करने का कम करते हैं.

विपक्ष की बैठक में नहीं शामिल हुए राजभर

विगत 23 जून को हुई विपक्ष की बैठक में ओपी राजभर नहीं शामिल हुए थे. हालांकि उन्होंने इस बैठक का समर्थन किया था, इसी के साथ उन्होंने बीएसपी सुप्रीमों मायावती को विपक्ष का चेहरा बनाने को कहा था. उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस, बीएसपी, सपा, आरएलडी एक मंच पर आएं तो राजभर भी आएगा. विपक्ष की इस बैठक को उन्होंने साकारात्मक बताया था.

Latest News

Britain Election: ब्रिटिश पीएम और लेबर पार्टी ने चुनाव प्रचार किया शुरू, ऋषि सुनक बोले- “मैं हर वोट के लिए लड़ूंगा”

Britain Election: ब्रिटेन में आम चुनाव के एलान के बाद से सत्तारूढ़ कंजरवेटिव पार्टी और विपक्षी लेबर पार्टी के...

More Articles Like This