World No Tobacco Day 2023: विश्व तंबाकू निषेध दिवस आज, जानिए महत्व और इतिहास

Must Read

World No Tobacco Day 2023: विश्व तंबाकू निषेध दिवस (World No Tobacco Day) 31 मई को मनाया जाता है, जिसका आयोजन WHO करता है और तंबाकू के उपयोग के हानिकारक परिणामों के बारे में जागरूकता को बढ़ावा देता है. इस पहल का पहला लक्ष्य लोगों को तंबाकू के उपयोग से जुड़े हेल्थ रिस्क के बारे में शिक्षित करना है, जिसमें स्मोकिंग और स्मोकलेस टोबैको प्रोडक्ट दोनों शामिल हैं. यह दिन तंबाकू छोड़ने पर जोर देता है. आाज के इस आर्टिकल में हम विश्व तम्बाकू निषेध दिवस (World No Tobacco Day) के इतिहास और महत्व के साथ इस साल की थीम के बारे में जानेंगे…

World No Tobacco Day 2023

विश्व तम्बाकू निषेध दिवस (World No Tobacco Day) का मकसद तंबाकू के सेवने से स्‍वास्‍थ्‍य को होने वाले दुष्प्रभावों के बारे में जागरुकता फैलाना है. इस दिन संयुक्त राष्ट्र सहित कई वैश्विक संगठन मिलकर दुनिया भर तंबाकू के सेवन को कैसे कम किया जाए इसपर नई-नई रणनीतियां तैयार करते हैं. WHO के अनुसार प्रत्‍येक वर्ष दुनिया भर में करिब 3.5 मिलियन हेक्टेयर जमीन तंबाकू उगाने के लिए इस्तेमाल में ली जाती है, जिसकी वजह से हर साल 200,000 हेक्टेयर जंगलों से पेड़ों की कटाई की जाती है.

World No Tobacco Day 2023: इतिहास

साल 1987 में WHO ने तंबाकू के इस्तेमाल को नियंत्रित करने पर जोर देने के लिए संकल्प लिया. इसके बाद सबसे पहले विश्व तम्बाकू निषेध दिवस (World No Tobacco Day) 31 मई, 1988 को मनाया गया। पहले वर्ष की थीम थी “तंबाकू या स्वास्थ्य: स्वास्थ्य चुनें.”

World No Tobacco Day 2023: थीम

WHO के अनुसार विश्व तम्बाकू निषेध दिवस (World No Tobacco Day) 2023 की थीम है “हमें खाने की आवश्यकता है, तम्बाकू की नहीं.” इस थीम के जरिए WHO किसानों को तम्बाकू उगाने के बजाय ज्यादा से ज्यादा अनाज उगाने के लिए प्रोत्साहित कर रहा है.

World No Tobacco Day 2023: महत्व

World No Tobacco Day को दुनिया भर के उन करोड़ों लोगों को जागरुक करने के लिए मनाया जाता है, जो इसके नुकसान को जानते हुए भी इसका सेवन करते है. इसका मकसद लोगों को तंबाकू के इस्तेमाल से जुड़े स्वास्थ्य संबंधित समस्याओं के बारे में याद दिलाना है, जिसमें फेफड़े का कैंसर, हार्ट डिजीज, सांस की बीमारी समेत कई और गंभीर बीमारियां शामिल हैं.

भारत में तंबाकू का इस्तेमाल

ग्लोबल एडल्ट टोबैको सर्वे इंडिया, 2016-17 के अनुसार भारत में करिब 267 मिलियन वयस्क तम्बाकू का सेवन करते हैं. भारत में तंबाकू के इस्तेमाल का सबसे आम रूप गुटखा, खैनी, सुपारी और जर्दा है. इसके अलावा स्मोकिंग के रूप में बीड़ी, सिगरेट और हुक्का का इस्तेमाल किया जाता हैं.

ये भी पढे़:- CFF Fluid Control IPO: कमाई का तगड़ा मौका! धूम मचाने आ रहा IPO, जानें डिटेल्स

ये भी पढे़:- BPSC Recruitment: BPSC ने 1.70 लाख शिक्षकों की भर्ती के लिए जारी की अधिसूचना, जानें कब से कर सकेंगे आवेदन

ये भी पढे़:- UP: IPS विजय कुमार यूपी के नए कार्यवाहक डीडीपी, आज कार्यभार सौंप RK विश्वकर्मा होंगे सेवानिवृत्त

Latest News

स्वास्थ्य क्षेत्र में बेहतर योगदान के लिए Felix Hospital को मिला सम्मान

Felix Hospital: नई दिल्ली के कनॉट प्लेस स्थित इम्पीरियल होटल में शनिवार को बीडब्ल्यू हेल्थकेयर एक्सीलेंस अवार्ड्स का आयोजन...

More Articles Like This