Honor Killing: मुरैना में प्रेमी जोड़े को मारी गोली, शव को चंबल नदी में फेंका

Must Read

मुरैनाः मध्य प्रदेश के मुरैना जिले के अंबाह थाना क्षेत्र से ऑनर किलिंग का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है. बेटी के प्रेम प्रसंग से नाराज घर वालों ने अपनी बेटी और उसके प्रेमी की गोली मारकर हत्या कर दी। इसके बाद दोनों के शव को नदी में फेंक दिया. इस वारदात की जानकारी मिलते ही पूरे इलाके में सनसनी फैल गई. पुलिस ने भी दोनों के शवों को खोजने के लिए गोताखोरों को लगा दिया है.

यह मामला अंबाह थाना क्षेत्र से सामने आया है. दरअसल, इस गांव की 18 वर्षीय शिवानी का अपने पड़ोस वाले गांव के 21 वर्षीय राधेश्याम उर्फ छोटू से प्रेम प्रसंग चल रहा था और दोनों शादी करना चाहते थे, लेकिन परिवारों को उनका रिश्ता नामंजूर था। जब दोनों को कोई विकल्प नहीं दिखा, तो दोनों अपने घर से भाग गए. हालांकि, कुछ दिन बाद दोनों मिल गए थे.

शिवानी की इस हरकत से उसके परिवार वाले बेहद नाराज हुए थे. उन्होंने इस अपराध को अंजाम देने के लिए अपने रिश्तेदारों को भी अपने घर बुला लिया था. इसके बाद एक दिन मौका पाकर उन्होंने युवक और युवती दोनों को गोली मार दी. इतना ही नहीं, हत्या के बाद उनके शव को रात में चंबल नदी में फेंक दिया.

लड़के पक्ष को हुआ शक
काफी समय तक बेटे का पता न चलने छोटू के परिवार वाले काफी घबरा गए और उसका पता लगाने लगे. बेटे का कोई सुराग नहीं मिलने पर उन्हें शक हो गया कि लड़की पक्ष ने दोनों को मार डाला है. इस बात को लेकर वो पुलिस थाने पहुंचे और इसकी शिकायत दर्ज कराई. परिजनों ने लगातार पुलिस से गुहार लगाते हुए कहा कि उनके बेटे को लड़की पक्ष वालों ने मार डाला है, लेकिन पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया.

कड़ाई से पूछताछ करने पर खुला राज
पुलिस ने जब भी लड़की पक्ष से इस बारे में पूछताछ किया, तो वो सब यह कहकर टाल देते थे कि पहले की तरह इस बार भी दोनों घर छोड़कर भाग गए हैं. काफी जांच-पड़ताल के बाद पुलिस को भी लड़की पक्ष वालों पर शक होने लगा. उन्होंने गांव के लोगों से पूछताछ किया तो पता चला कि किसी ने भी दोनों को भागते हुए नहीं देखा है, यहां तक कि काफी समय से उन दोनों ने किसी से भी संपर्क नहीं किया है.

महिलाओं सहित अपराध में शामिल थे 15 लोग
इसके बाद पुलिस ने लड़की पक्ष को शक के बिनाह पर हिरासत में लिया और सख्ती से पूछताछ की. इसके बाद लड़की पक्ष ने अपना अपराध कबूल किया और उन्होंने पुलिस को बताया कि इस अपराध में उनके साथ 15 और रिश्तेदार शामिल हैं। आगे पूछताछ करने पर पता चला कि इस अपराध में महिलाएं भी शामिल थीं, जिन्होंने बताया कि दोनों की हत्या 3 जून को कर दी गई थी और उनके शव को चंबल नदी में फेंक दिया गया था.

शव खोजने के लिए नदी में उतरी टीम
हत्या की पुष्टि होने के बाद पुलिस हरकत में आई, जिसके बाद एसडीआरएफ और गोताखोरों की टीम को चंबल नदी में उतारकर प्रेमी जोड़े का शव खोजना शुरू कर दिया है. हालांकि, इस बात की उम्मीद कम है कि उनका शव मिलेगा. उनका शव नदी में फेंके 15 दिन हो चुके हैं, इतने दिनों में चंबल नदी के मगरमच्छ, और मछली आदि उनको अपना भोजन बना चुके होंगे.

शव मिलने तक नहीं कर सकते पुष्टि
अंबाह थाना के टीआई विनय यादव ने कहा, “लड़की के पिता ने ही पूछताछ में बताया है कि 3 जून को ही छोटू व शिवानी को गोली मारी, फिर उनकी लाश नदी में फेंक दी गई. एसडीआरएफ की टीम व गोताखोर चंबल नदी में शव तलाश रहे हैं, जब तक शव नहीं मिल जाता, तब तक हत्या की बात को पूरी तरह पुष्ट नहीं कर सकते. हमारे यहां अभी गुमशुदगी का केस दर्ज है.”

Latest News

स्वास्थ्य क्षेत्र में बेहतर योगदान के लिए Felix Hospital को मिला सम्मान

Felix Hospital: नई दिल्ली के कनॉट प्लेस स्थित इम्पीरियल होटल में शनिवार को बीडब्ल्यू हेल्थकेयर एक्सीलेंस अवार्ड्स का आयोजन...

More Articles Like This